बस्ती में ना गिरे प्लेन इसलिए क्रैश होने तक पायलट ने नहीं छोड़ी सीट

0
63

गुजरात में कच्छ जिले के बुरेजा गांव में मंगलवार सुबह भारतीय वायुसेना का जगुआर एयरक्राफ्ट दुर्घटनाग्रस्त हो गया. एयरक्राफ्ट ने जामनगर से उड़ान भरी थी. हादसे में पायलट संजय चौहान शहीद हो गए हैं. संजय चौहान वायुसेना में एयर कमोडोर के पद पर थे. जगुआर ने रूटीन ट्रेनिंग मिशन के दौरान जामनगर से सुबह करीब 10.30 बजे उड़ान भरी थी. इसके कुछ देर बाद एयरक्राफ्ट दुर्घटनाग्रस्त हो गया. हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

  • बताया जा रहा है कि भुज से मुंदरा जा रहे मार्ग पर एयर कोमोडोर संजय चौहान विमान टूटने के दौरान चेयर इजेक्ट कर पैराशूट के जरिए अपनी जान बचा सकते थे.
  • लेकिन ऐसा करने पर विमान बस्ती के ऊपर गिर सकता था. उन्होंने जनहानि को बचाने के लिए सीट नहीं छोड़ी और अपनी जान दे दी.
  • संजय चौहान उत्तरप्रदेश के लखनऊ के रहने वाले थे. एयर कोमोडोर संजय चौहान वायुसेना में सीनियर अधिकारी थे. वे स्टेशन कमांडर थे.
  • एयर कोमोडोर रैंक आर्मी की ब्रिगेडियर रैंक के बराबर होती है. संजय को हादसे में गंभीर चोटें आई थीं. बाद में उनकी मौत हो गई.
  • स्थानीय लोगों के अनुसार विमान के मलबे की चपेट में आने से कुछ गायों की मौत हुई है। जेट का मलबा दूर-दूर तक बिखर गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here