नौकरी छोड़ने पर अमेजन देगी 3.40 लाख रुपये, लेकिन ये है शर्त

0
178
Amazon will pay Rs 3.40 lakh on leaving the job, but this is the condition

अमेजन: कोई भी कंपनी अपने कर्मचारियों को नौकरी छोड़ने के लिए प्रोत्साहित नहीं करती. कंपनियों की कोश‍िश अनुभवी कर्मचारियों को अपने साथ बनाए रखने की होती है, लेकिन इस मामले में ई-रिटेलर अमेजन थोड़ी अलग सोच रखती है. अमेजन हर साल एक प्रोग्राम चलाती है. इसका नाम है- ‘पे टू क्व‍िट.’ इस प्रोग्राम के तहत कंपनी आपको नौकरी छोड़ने के लिए 5 हजार डॉलर (तकरीबन 3.40 लाख रुपये) तक ऑफर करती है.

  • हालांकि इस ऑफर को स्वीकार करने के साथ ही आप पर एक प्रतिबंध भी लग जाता है. अगर आप ने यह ऑफर स्वीकार किया, तो आप इसके बाद फिर कभी अमेजन के साथ काम नहीं कर सकेंगे.
  • सीएनबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेजन का यह प्रोग्राम कंपनी के फुलफिलमेंट सेंटर में काम करने वाले फुल टाइम कर्मचारियों के लिए है. हर साल एक बार यह प्रोग्राम लाया जाता है. इस दौरान इन्हें कहा जाता है कि अगर आप कंपनी छोड़ना चाहते हैं, तो आप पैसे लेकर छोड़ सकते हैं.

नौकरी छोड़ने पर अमेजन देगी 3.40 लाख रुपये, लेकिन ये है शर्त

  • इस ऑफर का फायदा वही लोग उठा सकते हैं, जिन्हें कंपनी में एक साल से ज्यादा का वक्त हो गया है. सीएनबीसी ने कंपनी के प्रवक्ता के हवाले से लिखा है कि हम अमेजन में उनको ही रखना चाहते हैं, जो दिल से यहां रहना चाहते हैं.
  • उन्होंने कहा कि कोई कर्मचारी अगर उसी कंपनी में काम करता है, जहां वह काम नहीं करना चाहता, ऐसे कर्मचारी लंबी अवध‍ि में कंपनी के लिए काफी नुकसानदायी साबित होते हैं.
  • कंपनी के इस ऑफर की शुरुआत कर्मचारी के कंपनी में एक साल पूरा करने के बाद होती है. पहला ऑफर 2 हजार डॉलर (तकरीबन 1.36 लाख रुपये ) का होता है. इसके बाद इसमें हर साल 1000-1000 डॉलर की बढ़ोत्तरी होती रहती है. इसके तहत अध‍िकतम 5 हजार डॉलर का ऑफर कर्मचारी को दिया जाता है.
  • ‘पे टू क्व‍िट’ नाम के इस प्रोग्राम की शुरुआत सबसे पहले ऑनलाइन शू रिटेलर जैप्पोस ने की थी. अमेजन ने 2009 में इस प्रोग्राम को लागू किया था. जेफ बेजोस ने 2014 में शेयरहोल्डर्स को लिखे पत्र में इस प्रोग्राम का जिक्र किया था. उन्होंने कहा था कि इस प्रोग्राम का मकसद कर्मचारियों को ये तय करने में मदद करना है कि वे असल में चाहते क्या हैं.
  • बेजोस ने कहा था कि कंपनी कतई नहीं चाहती, उसके कर्मचारी उसे छोड़ जाएं. इसके लिए ऑफर के साथ ही एक टैगलाइन भी लिखी होती है. इस ऑफर को स्वीकार न करें. कंपनी के मुताबिक बहुत ही कम लोग इस ऑफर को स्वीकार करते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here