इस CBSE टॉपर को इलाज के लिए चाहिए 5 करोड़ रुपये, PM मोदी से भी मांगी मदद

0
513
5 crores for this CBSE topper treatment, PM Modi sought help from
सीबीएसई 10वीं परीक्षा के नतीजे जारी कर दिए गए हैं, जिसमें चार छात्रों ने पहला स्थान हासिल किया है. वहीं डिफरेंटली एबल्ड कैटेगरी में दो विद्यार्थियों ने टॉप किया है, जिन्हें 500 में से 489 अंक प्राप्त हुए हैं. इसमें एक नाम है अनुष्का पांडा, जिन्होंने कई मुश्किलों का सामना करते हुए यह मुकाम हासिल किया है. आइए जानते हैं अनुष्का की सफलता की कहानी…
  • अनुष्का ने अंग्रेजी में 95, हिस्ट्री में 99, गणित में 99, साइंस में 98 और सोशल साइंस में 98 अंक हासिल किए हैं. परीक्षा में टॉप करने वाली 15 साल की अनुष्का का कहना है कि ‘बचपन से ही शारीरिक दिक्कत होने की वजह से मुझे हर रोज सार्वजनिक स्थानों से लेकर शिक्षा में उत्पीड़न का सामना करना पड़ा.’

इस CBSE टॉपर को इलाज के लिए चाहिए 5 करोड़ रुपये, PM मोदी से भी मांगी मदद

  • वहीं उन्होंने समाज से अपनी सोच बदलने को कहा है, क्योंकि जीवन में कुछ काम करना मुश्किल असंभव नहीं है. बता दें कि अनुष्का को 10 महीने की उम्र से ही यह दिक्कत थीं. खास बात ये है कि इसका इलाज काफी महंगा है और इसका इलाज भी अमेरिका में ही हो सकता है.
  • उसके साथ ही अनुष्का ने डायरेक्टर जनरल ऑफ ड्रग कंट्रोल को भी दवाई भारत भेजने की अनुमति के लिए पत्र लिखा था, लेकिन उन्हें कहा गया है कि इसका इलाज भारत में नहीं हो सकता है.
  • इस साल परीक्षा में 86.7 फीसदी बच्चे पास हुए हैं. वहीं लड़कियों ने लड़कों से अच्छा प्रदर्शन किया है. इसमें लड़कियों का पास प्रतिशत 88.67 फीसदी रहा और 85.32 फीसदी लड़के ही पास हुए हैं.
  • इस परीक्षा में 16,24,682 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया था, जिसमें 14,08,594 फीसदी परीक्षार्थी पास हुए हैं. वहीं तिरुअनंतपुरम में 99.60 फीसदी, चेन्नई में 97.37 फीसदी और अजमेर क्षेत्र में 91.83 फीसदी बच्चे पास हुए हैं.
  • इस साल 1,31,493 बच्चों ने 90 फीसदी से अधिक अंक हासिल किए हैं, जबकि 27,476 फीसदी बच्चों ने 95 फीसदी से अधिक अंक प्राप्त किए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here