चुकंदर कैसे खाएं? चुकंदर के फायदे और नुकसान

0
50
Chukandar Kaise Khaye? Chukandar Khane Ke Fayde Aur Nuksan

चुकंदर कैसे खाएं: आमतौर पर लोग चुकंदर को  कच्चे सलाद के  रूप में खाना ज्यादा पसंद करते हैं. इसे सलाद में जैसे मूली, गाजर, प्याज, टमाटर आदि के साथ शामिल कर खाया जाता है.  इसे उबालकर खाने का भी चलन है। दक्षिण भारत में इसे उबालकर भी खाया जाता है।

हालांकि उबालने पर इसके  कुछ तत्व नष्ट हो जाते हैं । इसलिए कच्चा खाना ज्यादा अच्छा माना जाता है। चुकंदर का जूस भी पिया जाता है। बुजुर्ग या बच्चों को  चुकंदर का जूस ही देना चाहिए। इसके  अलावा भारत में चुकंदर की सब्जी बनाकर खाने का भी चलन है। इसकी सब्जी बनाने में कोई अतिरिक्त विधि अपनाने की जरूरत नहीं है। बस जैसे आलू या गाजर की सब्जी बनाई जाती है, उसी तरह से चुकंदर की सब्जी बनाकर खाई जा सकती है।

चुकंदर के फायदे

1. चुकंदर के फायदे चेहरे के लिए

Image result for चुकंदर के फायदे चेहरे के लिए

गोरेपन को बढ़ाने के लिए आप इसका फेस पैक भी बना सकती हैं इसे बनाने के लिए आपको एक बड़ा चम्मच बेसन लेना है और इसमें एक चम्मच चुकंदर का रस मिला लेना है एक चम्मच दही एक चम्मच गुलाब की पंखुड़ियों का पेस्ट चुकंदर के रस में मिला लेना है और इसे अपने चेहरे पर गर्दन पर अच्छी तरह से लगा लें और लगभग आधा घंटे तक इसे ऐसे ही लगा रहने दें.

फिर हल्के गर्म पानी से इसे अच्छी तरह से धो लें यह  दिन छोड़ कर अगले दिन लगाते हैं तो इससे आपके चेहरे की रंगत बदल जाती है और आपका रंग भी गोरा होने लगता है तो यदि आप भी जल्द से जल्द अपने चेहरे की रंगत को बदलना चाहते हैं तो चुकंदर के इस रस का स्तेमाल अभी से करें.

2. लाल चुकंदर खाने के लाभ

Image result for चुकंदर के फायदे चेहरे के लिए

चुकंदर आपके लिए काफी ज्यादा फायदेमंद है क्योंकि चीनी में चुकंदर में चीनी की मात्रा बहुत अधिक होती है इससे शरीर में गर्मी बनी रहती है सर्दियों में हम चुकंदर का इस्तेमाल करते हैं तो हमारे शरीर को बहुत ज्यादा गर्मी मिलती है हमें सर्दी भी कम लगती है चुकंदर दो प्रकार का होता है एक लाल रंग का भी होता है और एक सफेद रंग का भी होता है.

Must Read: शारीरिक कमजोरी दूर करने के घरेलू उपाय

लाल रंग का चुकंदर हमारे लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है और हमारे शरीर को ताकतवर बनाता है हमारे शरीर में रक्त की कमी को भी दूर करता है इसीलिए हमें लाल चुकंदर का सेवन बहुत ज्यादा करना चाहिए. क्योंकि लाल चुकंदर में ज्यादा पोषण होता है, इसीलिए हमें लाल चुकंदर का सेवन करना चाहिए.

3. खाली पेट चुकंदर खाने के फायदे

Image result for खाली पेट

इसीलिए ज्यादातर चुकंदर का उपयोग किया जाता है. वैसे तो चुकंदर के फायदे इतने हैं की लिखने बैठो तो सेंकड़ों पेज भर जाएँ पर आपको यहाँ कुछ प्रमुख चुकंदर के फायदे बता रहे हैं. ज्यादातर इसका उपयोग सलाद की तरह किया जाता है चुकंदर की सब्जी बना कर भी खाते हैं यदि आपको कच्चा भी खाते हैं तो आपको काफी लाभ मिलता है.

इससे आपको शरीर फिट और हेल्दी रहता है. चुकंदर शरीर को भीतर से तंदुरुस्त करने के साथ ही हमारी त्वचा को भी खूबसूरत बनाता है. यदि आप चुकंदर का जूस प्रतिदिन पीते हैं तो आपकी त्वचा से झुरियां खत्म हो जाती हैं. और आपकी त्वचा एकदम लाल-अम-लाल हो जाती है.

4. बालों के लिए चुकंदर के फायदे

Image result for बालों के लिए चुकंदर के फायदे

चुकंदर के पत्तों को उबाल लें और फिर इस पानी के आधे हो जाने पर गैस को बंद कर दें। इसके बाद पत्तियों को निकालकर एक पेस्ट तैयार कर लें। इस पेस्ट में मेहंदी मिलाकर इसे बालों में अच्छी तरह लगा लें। आधा घंटा इस पेस्ट को बालों में लगा रहने दें और फिर पानी से साफ कर लें। आपको इस पेस्ट के परिणाम कुछ ही दिनों में देखने को मिल जाएगा।

आप अदरक के रस में चुकंदर का रस मिलाकर इसे सोने से पहले अपने बालों में लगा लें। सुबह उठने पर बालों को धो लें, ऐसा करने से बालों की ग्रोथ बढ़ेगी और झड़ना कम होगा।

हल्दी पाउडर में चुकंदर और आंवला के पत्तों को मिला लिया जाए तो ऐसे में आप बालों को झड़ने से बचा सकते हैं। इस उपचार से भी बालों के गिरने की समस्या कम से कम हो जाएगी।

Must Read: शारीरिक कमजोरी दूर करने के घरेलू उपाय

आप इस बात को जानते ही हैं, कि चुकंदर में एंटी ऑक्सीडेंट होते हैं, जो बालों में चमक बनाने में मदद करता है। बालों का झड़ना कम करने के लिए आप चुकंदर का सेवन सीधे भी कर सकती हैं।

चुकंदर के नुकसान

चुकंदर के नुकसान: चुकंदर स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक सब्जी है। इसमें कार्बोहाइड्रेट और कम मात्रा में प्रोटीन और फैट पाया जाता है। इसका जूस सब्जियों में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। यह प्राकृतिक शुगर का सबसे अच्छा स्रोत है। चुकंदर का जूस एनर्जी को बढ़ावा देने और आंखों की सेहत के लिए बहुत उपयोगी होता है। इसके अलावा विटामिन, मैग्‍नीशियम और बायोफ्लेवोनॉइड से समृद्ध है। यह पौष्टिक सब्जी शरीर में हार्मोन के प्राकृतिक उत्पादन को बढ़ा भी सकता है। वास्तव में, चुकंदर कई बीमारियों के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है। इन सब अद्भुत गुण के बावजूद, ज्‍यादा चुकंदर खाना आपके लिए खतरनाक भी हो सकता है। विश्‍वास नहीं हो रहा तो आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से जानें।

1. कैल्शियम के स्तर में कमी

चुकंदर का रस शरीर में कैल्शियम के स्‍तर को कम करता है, जो कई बीमारियों को जन्‍म देता है। ऐसा चुकंदर का रस ज्‍यादा पीने के कारण होता है। यानी चुकंदर शरीर में कैल्शियम की मात्रा को भी कम कर देता है। इससे हड्डियों से जुड़ी कई समस्याएं घेर सकती हैं। इसलिए अगर आपको हड्डियों से जुड़ी समस्‍या है तो इसे लेने से पहले किसी अच्‍छे डॉक्‍टर से सलाह जरूर लें।

2. गर्भावस्था में इसके सेवन से बचें

गर्भवती महिलाओं को भी चुकंदर खाने से परहेज करना चाहिए क्‍योंकि यह मां और बच्‍चे दोनों के स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित करता है। मायो क्लिनिक के अनुसार इसको खाने से पेट में पल रहे बच्चे पर खतरनाक प्रभाव पड़ता है। इसके अलावा जो लोग लो ब्लड प्रेशर से जूझ रहे हैं उन्हें भी चुकंदर खाने से बचना चाहिए क्योंकि ये ब्लड प्रेशर को और कम कर देता है।

Must Read: शारीरिक कमजोरी दूर करने के घरेलू उपाय

3. किडनी की समस्या

किडनी की बीमारियों से पीड़ित लोगों को चुकंदर से बचना चाहिए क्योंकि चुकंदर में बीटेन होता है, जो शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ा देता हैं। किडनी की समस्याओं से ग्रस्‍त लोगों को जटिलताओं से बचने के लिए बीटेन लेने से पहले डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। चुकंदर में ऑक्सालेट की अधिक मात्रा शरीर में किडनी की पथरी के गठन की संभावना को बढ़ा देता है। इसलिए अगर आपको परिवारिक इतिहास में किडनी की पत्‍थरी की समस्‍या है, तो चुकंदर की अधिक मात्रा लेने से बचना चाहिए क्‍योंकि यह स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक हो सकती है।

4. आयरन और कॉपर की अधिकता

रक्‍तवर्णकता या विल्‍सन रोग से पीडि़त लोगों को चुकंदर के अधिक सेवन से बचना चाहिए क्‍योंकि इससे शरीर में कॉपर और आयरन की अधिकता हो जाती है। रक्‍तवर्णकता शरीर में आयरन की अधिकता के कारण होता है, जबकि विल्‍सन रोग शरीर में कॉपर की कमी नहीं होनी चाहिए। चुकंदर में आयरन और कॉपर भरपूर मात्रा में होता है और निश्चित रूप से यह दोनों स्थितियों को बदतर बना सकता है|

Must Read: शारीरिक कमजोरी दूर करने के घरेलू उपाय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here