राहुल गांधी की तरफ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आक्षेपों की बौछार किए जाने के बाद केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने उन पर पलटवार किया है। जेटली ने कांग्रेस अध्यक्ष की अक्ल पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि ये लगातार अध्ययन से ही हासिल की जा सकती है, क्योंकि ये पिता से विरासत में नहीं मिलती। जेटली ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा, कांग्रेस पार्टी ‘विचारधारा विहीन’ बन गई है, क्योंकि इसका एकमात्र जुनून बस एक आदमी के लिए है, जिसे नरेंद्र मोदी कहते हैं।

  • बता दें कि राहुल गांधी ने मुद्रा योजना की आलोचना करते हुए भाजपा सरकार पर ये आरोप लगाकर आक्रमण किया था कि उसने बड़े कॉरपोरेट घरानों के करीब 2.5 लाख करोड़ रुपये के कर्ज माफ कर दिए हैं। जेटली ने ‘इज कांग्रेस बिकमिंग आइडियोलॉजीलैस?’ हैडिंग से अपलोड की गई फेसबुक पोस्ट में कहा, यूपीए सरकार (कांग्रेस नेतृत्व वाली) के 2008 से 2014 के सत्ता काल को देखा जाए तो उसने देश के 15 बड़े लोन डिफाल्टरों को अंधाधुंध पैसा कर्ज दिया था।
  • उन्होंने कहा, गांधी इसके ठीक विपरीत बात कहने की गोबेलियन परंपरा को पसंद करते हैं। उन्होंने कहा कि एक राष्ट्रीय दल के अध्यक्ष का बैंक के कामकाज के बेसिक तरीके को भी नहीं समझ पाना न केवल उनकी अपनी पार्टी बल्कि पूरे देश के लिए भी चिंता का विषय होना चाहिए।

राहुल ने लिखी है ‘द रिडिस्कवरी ऑफ कोकाकोला’

जेटली ने राहुल की तरफ से मोदी की नीतियों पर आक्रमण करने के लिए कोकाकोला के संस्थापक को शिकंजी बेचने वाला बता देने के बयान पर भी तंज कसा। उन्होंने लिखा, ‘द डिस्कवरी ऑफ इंडिया’ लिखने वाले के महान नाती ने अपनी परंपरागत त्रुटियों के साथ एक दिन देश को ‘द रिडिस्कवरी ऑफ कोकाकोला’ की महान खोज दे दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here