kalka shimla ke rochak tathya

जानें कालका-शिमला टॉय ट्रेन का सफर और जानिये कुछ रोचक बातें: देश के सबसे लोकप्रिय हिल स्टेशन शिमला को जोड़ती कालका शिमला रेल। नौ नवंबर 1903 से शुरू हुआ कालका-शिमला रेल का सफर 110 सालों के बाद भी अनवरत जारी है। कालका-शिमला रेल को संक्षेप में केएसआर (कालका शिमला रेल) कहते हैं। कालका शिमला रेल सैलानियों की खास पसंद है। खूबसूरत वादियों में घूमने वाले लोगों को कालका-शिमला रेलवे ट्रैक बहुत आकर्षित और रोमांचित करता है. इस साल इस कालका-शिमला रेलवे ट्रैक को 114 साल पूरे हो गये हैं।

1. शिमला जाने वाले सैलानी बस के बजाय इस खिलौना ट्रेन से शिमला जाने को प्राथमिकता देते हैं। क्योंकि इस खिलौना ट्रेन का सफर इतना सुहाना है कि जितना मजा शिमला की हसीन वादियों में घूमने में आता है उतना आनंद ये छह घंटे का सफर आपको देता है। संयुक्त राष्ट्र की संस्था यूनेस्को ने इसे विश्व धरोहर घोषित कर रखा है।

2. ब्रिटिश शासन के समय साल 1896 में इस रेलवे ट्रैक का निर्माण चीफ इंजीनियर एच एस हैरिंगटन(H.S. Harington) की अगुवाई में शुरु हुआ था.

3. साल 1903 में इस खूबसूरत और रोमांचक रेलवे ट्रैक को देश को समर्पित कर दिया गया था.

5. कालका-शिमला रेलवे ट्रैक पर ट्रेन समुद्र तल से 656 मीटर की ऊंचाई पर हरियाणा के कालका स्टेशन से 2,076 मीटर की ऊंचाई पर स्थित शिमला तक का सफर पूरा करती है.

6. कालका-शिमला रेलमार्ग पर ट्रेन 103 सुरंगों और 869 पुलों से होते हुए गुजरती है.

7. इस रेलमार्ग पर ट्रेन शिवालिक की पहाड़ियों से होकर गुजरती है जिसमें लगभग 919 घुमाव आते हैं और इस मार्ग के तीखे मोड़ों पर ट्रेन लगभग 48 डिग्री तक के कोण पर घूम जाती है.

8. 10 जुलाई 2008 को यूनेस्को ने कालका-शिमला रेलवे ट्रैक को विश्व धरोहरों में शामिल किया था.

9. साल 1921 में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने इसी कालका-शिमला रेलमार्ग पर सफर किया था.

10. हर साल हजारों सैलानी या पर्यटक शिमला में पहाड़ों की बर्फ का आनंद लेने के साथ-साथ इस रेलमार्ग पर सफर का मजा लेने विशेष रूप से आते हैं.

11. अंग्रेजों ने पहले इस रेलमार्ग को कालका से हिमांचल के किन्नौर तक लाने का सोचा था लेकिन फिर बाद में इसे शिमला तक लाया गया.

12. इस रेल ट्रैक के निर्माण के समय आ रही दिक्कतों के कारण अंग्रेजों ने इसे छोड़ने का मन बना लिया था जिसके कारण एक अंग्रेज अधिकारी कर्नल बड़ोग ने आत्महत्या भी कर ली थी. इसी वजह से इस रास्ते पर एक स्टेशन का नाम बड़ोग स्टेशन रखा गया है.

13. कालका-शिमला रेलमार्ग पर बॉलीवुड की अनेकों फिल्मों के गाने और सीन भी फिल्माये गये हैं.

14. इस रेलमार्ग पर सुबह 3:30 बजे से दोपहर 12:10 बजे तक कुल 6 ट्रेनों का संचालन होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here