रांची: चारा घोटाले से जुड़े एक मामले में सजा काट रहे आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने गुरुवार को रांची की सीबीआई कोर्ट में सरेंडर कर दिया। सरेंडर करने के बाद सीबीआई अदालत ने लालू यादव को बिरसा मुंडा जेल में भेजने के निर्देश दिए हैं। बताया जा रहा है कि जेल में आवश्यक कानूनी कार्रवाई के बाद लालू प्रसाद यादव को रांची स्थित रिम्स अस्पताल में जांच के लिए ले जाया जाएगा।

गौरतलब है कि इससे पहले झारखंड हाई कोर्ट ने लालू यादव की जमानत अवधि को बढ़ाने से इनकार करते हुए उनकी अर्जी खारिज कर दी थी, जिसके बाद उन्हें 30 अगस्त को कोर्ट में सरेंडर करने के निर्देेश दिए गए थे। लोक निर्माण विभाग के गेस्ट हाउस में ठहरे लालू ने झारखंड विकास मोर्चा के चीफ बाबूलाल मरांडी समेत कई सियासी लोगों से मुलाकात की थी। लालू की मरांडी से काफी देर बातचीत हुई।

मेरे स्वास्थ्य की जिम्मेदारी सरकार की है: लालू

मरांडी से मुलाकात के बाद लालू प्रसाद यादव रांची सीबीआई कोर्ट में सरेंडर करने के लिए रवाना हुए थे। इस दौरान गेस्ट हाउस से निकलते हुए लालू प्रसाद यादव ने कहा कि मेरी कोई इच्छा नहीं है। सरकार मुझे जहां चाहे वहां पर रख सकती है और मेरे स्वास्थ्य की जिम्मेदारी भी अब सिर्फ सरकार की है।

झारखंड हाई कोर्ट का जमानत अवधि बढ़ाने से इनकार

इससे पूर्व झारखंड हाई कोर्ट ने पिछली सुनवाई के दौरान राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू प्रसाद यादव की चारा घोटाले के देवघर कोषागार समेत सभी तीन मामलों में स्वास्थ्य कारणों से दी गई अंतरिम बेल की अवधि को आगे बढ़ाने से इनकार कर दिया था और उन्हें विशेष अदालत के सामने आत्मसमर्पण करने का निर्देश दिया था। अदालत ने कहा था कि जरूरत होने पर अब लालू का रांची के रिम्स अस्पताल में ही इलाज होगा।

सीबीआई के वकील ने किया था विरोध

मामले की सुनवाई के दौरान लालू यादव की ओर से कोर्ट में पेश हुए सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील और कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने इलाज के लिए लालू यादव की अंतरिम जमानत तीन महीने और बढ़ाने का अनुरोध किया था। अभिषेक मनु सिंघवी की दलील का सीबीआई के अधिवक्ता राजीव सिन्हा ने विरोध किया था जिसके बाद न्यायालय ने लालू की अंतरिम जमानत की अवधि आगे बढ़ाने से इनकार कर दिया था।

30 अगस्त तक दी गई थी जमानत

इससे पहले लालू यादव को 20 अगस्त की सुनवाई में 27 अगस्त तक के लिए अंतरिम जमानत दे दी गई थी। लालू के वकीलों ने अदालत से अनुरोध किया था कि अंतरिम जमानत की इस अवधि को कम से कम 30 अगस्त तक बढ़ा दिया जाए जिससे अभियुक्त का सीबीआई अदालत में आत्मसमर्पण कराया जा सके। कोर्ट ने इस अनुरोध को स्वीकार करते हुए उनकी जमानत की अवधि 30 अगस्त तक इस शर्त के साथ बढ़ा दी कि हर हाल में वह 30 अगस्त तक सीबीआई की रांची के विशेष अदालत के समक्ष आत्मसमर्पण कर देंगे। इसी आदेश के मद्देनजर लालू यादव बुधवार को पटना से रांची पहुंचे थे।

SHARE
Previous articleMumbai Ke Bare Me Rochak Jankari Or Ghumne Ka Jagah
Next articleबिहार राज्य के बारे में रोचक तथ्य? History of Bihar in Hindi
admin
Top News In Hindi:- यहाँ पर आपको टॉप Trending Entertainment, World's News, National, Sports and Health Tips न्यूज़ हिंदी लैंग्वेज में मेलिगी अगर आप टॉप Bollywood,Hollywood, latest Music न्यूज़ हिंदी में पढ़ना चाहते है और देश और दुनियां की रोचक जानकारिओं से जुड़े रहना चाहते है तो हमारी वेबसाइट पर बने रहिये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here