पहली बार सूरज को 'छूने' थोड़ी देर में जाएगा यान | Hindi News

वॉशिंगटन अंतरिक्ष एजेंसी नासा पहली बार सूर्य के नजदीक जाकर उसका अध्ययन करने के लिए अपना एक अंतरिक्ष यान भेजने जा रही है। थोड़ी देर में सोलर पार्कर प्रोब नामक इस यान को लॉन्च किया जाएगा। इस स्पेसक्राफ्ट को भेजने का उद्देश्य सूर्य के नजदीक के वातावरण, उसके स्वभाव और कार्यप्रणाली को समझना है। एक कार के आकार का यह अंतरिक्षयान सूरज की सतह से 40 लाख मील की दूरी से गुजरेगा। इससे पहले किसी भी अंतरिक्षयान ने इतना ताप और इतने प्रकाश का सामना नहीं किया है।

पार्कर सोलर प्रोब फ्लोरिडा के केप केनवेरल से शनिवार को भारतीय समयानुसार दोपहर 1 बजकर 30 मिनट के आसपास लॉन्च किया जाएगा। यह यूनाइटेड लॉन्च अलायंस डेल्टा 4 हैवी रॉकेट में सवार होकर उड़ान भरेगा। लॉन्च होने के कुछ महीनों के बाद यह यान सूर्य के पास पहुंचेगा। यह मानव द्वारा अब तक निर्मित किसी भी वस्तु के मुकाबले सूरज का ज्यादा करीब से अध्ययन करेगा।

साल 2024 तक यह सूर्य के 7 चक्कर लगाएगा पार्कर सोलर प्रोब अपने साथ कई उपकरणों को लेकर जा रहा है जो सूरज का भीतर से और आस-पास या प्रत्यक्ष रूप से अध्ययन करेगा। इन उपकरणों से जुटाए गए डेटा से वैज्ञानिकों को इसके बारे में बुनियादी सवालों का जवाब देने में मदद मिलेगी।

यहां देखें सोलर पार्कर प्रोब की लॉन्चिंग लाइव

इस अंतरिक्ष यान को सूर्य की गर्मी से बचाने के लिए नासा ने कई उपाय किए हैं। इसे थर्मल प्रोटेक्शन सिस्टम से लैस किया गया है, जो इसे सौर ऊर्जा के प्रभाव की वजह से नष्ट होने से बचाएगा। इसमें एक वॉटर कूलिंग सिस्टम भी लगाया गया है, जिससे कि इसके सोलर पैनल सौर ऊर्जा की वजह से नष्ट होने से बचेगा और यान का तापमान 29°C रखने में मदद मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here