Pregnancy Me Kya Karna chahiye

Pregnancy Me Kya Karna chahiye Or Kya Khana Chahiyeमहिला का जीवन तभी पूर्ण होता है जब वह माँ बनती है| “Pregnancy Me Kya Khana Chahiye” किसी युवती के लिये पहली बार माँ बनना एक अनोखी और चुनौती वाली क्रिया होती है| जैसे ही महिला गर्भधारण करती हैं वैसे ही गर्भधारण करने के बाद से महिला के शरीर में कई तरह के बदलाव शुरू हो जाते हैं| और यह बदलाव पहले महीने से शुरू हो जाते हैं| इसीलिए गर्भावस्था के पहले महीने से ही गर्भवती महिला को कुछ सावधानियां बरतनी शुरू कर देनी चाहिये| “Pregnancy Me Kya Karna chahiye Or Kya Khana Chahiye”

Pregnancy Me Kya Khana Chahiye, Image result for Pregnancy Me Kya nahi Khana Chahiye

Pregnancy Me Kya Karna chahiye

Pregnancy Me Kya Karna chahiye: महिला को सभी चीजो जैसे, ये सावधानियाँ खान-पान, रहन-सहन, चलना-फिरना, सेक्स आदि के तरीकों में बदलाव करना पड़ता है| क्योंकि गर्भावस्था में महिला द्वारा किये गए हर काम का सीधा प्रभाव शिशु पर जाता हैं| और ऐसे में होने वाले माता-पिता को अपने बच्चे की देखभाल, का जब वो माँ के गर्भ में है या फिर जन्म लेने के बाद आप उसका पूरा ध्यान रखेंगे| जो महिला पहली बार माँ बन रही होती हैं उसे हर समय अपने डॉक्टर या फिर अपने बडों से इस बारे में राय लेते रहना चाहिए|

Pregnancy Me Kya Karna chahiye: गर्भधारण के बाद ही महिला को हर तरह से शिशु को स्वस्थ रखने का प्रयत्न करते रहना चाहिए| इसके आलावा आपको अपने होने वाले बच्चा गर्भ में भी स्वस्थ रहे इसीलिए महिला को अपने स्वास्थ्य के साथ भी कोई लापरवाही नहीं करनी चाहिए| और गलती से भी वो काम नहीं करना चाहिए जिससे की आपके बच्चे को किसी तरह का कोई नुक्सान हो| तो आइये जानते हैं महिला को गर्भावस्था में कौन-कौन से काम नहीं करने चाहिए|

Pregnancy Me Bhool Kar Bhi Na Kare Ye Kaam:

गर्भावस्था के समय में महिलाओ को बहुत सी परेशानिया हो सकती हैं| ऐसे में महिलाओ को ध्यान रखना चाहिए, की वो भारी सामान न उठाये, पेट के बल लगकर कोई काम न करे, पैरो के भर न बैठे, झुकने से परहेज करे, ज्यादा देर तक कड़ी न हो, ज्यादा एक्सरसाइज न करे, आदि ये सब कुछ बाते हैं जिनका ध्यान गर्भवती महिला को गर्भावस्था के समय रखना चाहिए| इसके आलावा आपको ऊंचाई पर चढ़ने से भी परहेज करना चाहिए|

  1. अत्यधिक मेहनत न करे
  2. ज्यादा दवाईयो का सेवन न करे
  3. योनि से खून आने पर न करे अनदेखा
  4. पेट दर्द की समस्या को न करे अनदेखा
  5. डॉक्टर का परामर्श लेना न भूले
  6. आहार में न बरतें लापवाही

Pregnancy Me Kya Khana Chahiye

Pregnancy Me Kya Khana Chahiye: यदि महिला का खानपान ठीक रहता है तो उसका शिशु भी ठीक रहता है. और इसलिए आज हम इस पोस्ट में आपको उन बातों के बारें बताएँगे जो सबसे ज्यादा पूँछी जाती है कि प्रेग्नेंसी के दौरान क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए लेकिन एक और बात है कि किस महीने में किस तरह का खानपान रखना चाहिए. गर्भावस्‍था के दूसरे महीने में क्या खाएं और क्या न खाएं इसकी जानकारी बहुत जरूरी है.

1. अंडा:

अंडे में प्रोटीन के अलावा कैल्सियम और विटामिन डी भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो हड्डियों और मांसपेशियों के लिए बहुत जरूरी है। इसलिए सुबह के नाश्‍ते में अंडे को शामिल कर सकते हैं।

2. दूध:

गर्भधारण करने के बाद आयरन की बहुत जरूरत होती है उसकी पूर्ति के लिए सुबह-शाम दूध पीना न भूलें। दूध में कैल्सियम, विटामिन, प्रोटीन, पोटैशियम होता है। यह हड्डियों को मजबूत बनाता है।

3. डेयरी उत्‍पाद:

इसमें कैल्सियम और प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो हड्डियों और मांसपेशियों के विकास में सहायक है। गर्भावस्‍था की पहली तिमाही में दही, पनीर, बटर आदि का सेवन करना चाहिए।

4. नट्स:

गर्भावस्‍था के शुरूआत में महिला को 60 ग्राम अतिरिक्‍त प्रोटीन की जरूरत होती है। इसकी पूर्ति के लिए नियमित रूप से मुट्ठीभर सूखे मेवे खाने चाहिए। किशमिश, खजूर, अखरोट, बादाम का सेवन पहली तिमाही में शुरू कर दीजिए।

5. खट्टे फल:

खट्टे फलों में फोलिक एसिड भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो गर्भावस्‍था की जटिलताओं को कम करता है। खट्टे फल जैसे संतरा, मौसमी, कीनू, माल्‍टा, आंवला आदि का सेवन प्रेग्‍नेंसी के पहले ट्राइमेस्‍टर में अधिक करना चाहिए। इनमें विटामिन सी, कोलाजन और फाइबर भी होता है। खट्टे फल खाने से अपच की समस्‍या भी नही होती है।

6. दालें:

प्रेग्‍नेंसी की पहली तिमाही में विभिन किस्‍म की दालों का सेवन करना चाहिए। दालों में पाए जाने वाले विटामिन, फाइबर, आयरन, मिनरल आदि जैसे तत्‍व गर्भवती महिला और भ्रूण के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।

7. पालक:

पालक खाने से खून की कमी नही होती है। पालक खाने से हिमोग्लोबिन बढ़ता है। यह फोलिक अम्ल की कमी दूर करता है। पालक के नियमित सेवन से याद्दाश्‍त भी मजबूत होती है। इसमें मौजूद फ्लेवनोइड्स एंटीआक्सीडेंट का काम करता हैं और रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है। इसके अलावा यह दिल की बीमारियों को कम करता है। पालक आंखों के लिए भी फायदेमंद है यह त्वचा को रूखा होने से बचाता है।

Pregnancy Me Kya Nhi Khana Chahiye

1.प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को कच्चे अंडे का सेवन नहीं करना चाहिए। और इससे बने उत्पादों का भी सेवन नहीं करना चाहिए। कच्चे अंडे और इससे बने उत्पादों में समोनेला नाम के बैक्टीरिया के इन्फेक्शन का खतरा रहता है।

2. प्रेगनेंसी में चाय, कॉफी, जंक फ़ूड, फ़ास्ट फ़ूड, और एनर्जी ड्रिंक्स से दूर ही रहें। कई अध्ययनों में पाया गया है कि ज्यादा कैफीन के सेवन से गर्भपात, समय पूर्व प्रसव और कम वजन का बच्चा पैदा होने का खतरा रहता है।

3. प्रेगनेंसी में  ब्लैक टी, कॉफ़ी आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।

4.प्रेगनेंसी में शराब,बियर, धुम्रपान से भी परहेज रखें। शरीर में एल्कोहल की मौजूदगी से बच्चे के विकास में बाधा आ सकती है।

5. महिला को प्रेगनेंसी के दौरान कच्चा पपीता नहीं खाना चाहिए। कच्चा पपीता खाना माँ के लिए खतरनाक हो सकता है। क्योकि इसमें पेप्सिन होता है और इसके साथ इसमें पपाइन भी होता है। जिससे गर्भ में पल रहे बच्चे की ग्रोथ और डेवलपमेंट रुक जाती है।

6. अनानास गर्माहट पैदा करने वाला होता है। इसीलिए प्रेगनेंसी में इसे खाने से बचना चाहिए।

SHARE
Previous articleसफ़ेद बालों की समस्या? Baal Kale Karne Ka Natural Tarika In Hindi
Next articleChehre Ki Sundarta Badhane Ke liye Gharelu Nuskhe In Hindi
admin
Top News In Hindi:- यहाँ पर आपको टॉप Trending Entertainment, World's News, National, Sports and Health Tips न्यूज़ हिंदी लैंग्वेज में मेलिगी अगर आप टॉप Bollywood,Hollywood, latest Music न्यूज़ हिंदी में पढ़ना चाहते है और देश और दुनियां की रोचक जानकारिओं से जुड़े रहना चाहते है तो हमारी वेबसाइट पर बने रहिये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here