जानिये राष्ट्रपति भवन से जुड़े रोचक तथ्य, जो आपको कर देंगे हैरान

0
44
rashtrapati bhavan ke bare me rockak tathya

जानिये राष्ट्रपति भवन से जुड़े रोचक तथ्य: राष्ट्रपति भवन भारत के राष्ट्रपति का सरकारी निवास स्थान है| सन 1950 तक इसे वायसराय हाउस ही कहते थे| इसकी इमारते तब अस्तित्व में आई जब भारत की राजधानी को कोलकत्ता से दिल्ली में स्थानांतरित किया गया| इस महल में 340 कमरे है| राष्ट्रपति भवन हमारे देश के गौरव की मिसाल है और साथ ही देश की सबसे बड़ी सरकारी इमारतों में से एक भी है। लेकिन बहुत से लोग सिर्फ ये ही जानते है की ये इमारत सिर्फ भारत के राष्ट्रपति का निवास स्थान है। आईये आज जानते है इस भवन की उन विशेषताओं के बारे में जो जानना आपके लिए बेहद जरूरी भी है।

तो चलिए जानते है राष्ट्रपति भवन के बारे में ऐसी ही कुछ रोचक और दिलचस्प बाते:

1- यह दूसरा सबसे बड़ा राष्ट्रपति भवन या विश्व का सबसे बड़ा सरकारी निवास स्थान है।

2- वर्तमान में भारत के राष्ट्रपति, उन कक्षों में नहीं रहते, जहां वाइसरॉय रहते थे, बल्कि वे अतिथि-कक्ष में रहते हैं।

3- इस भवन में 700 मिलियन ईंटें और 3.5 मिलियन घन फीट (85000 घन मीटर) पत्थर लगा है, जिसके साथ लोहे का प्रयोग न के बराबर हुआ है।

4- ब्रिटिश वास्तुकार सर एड्विन लैंडसियर लूट्यन्स को इस इमारत के निर्माण का कार्यभार सौंपा गया|

5- इस भवन को बनाने का काम 1912 में शुरु किया गया था और 1929 में पूरा किया गया था| इसे बनाने में 17 साल लगे थे|

6- राष्ट्रपति एस्टेट में एक ड्राइंग रूम, एक खाने के कमरे, एक बैंक्वेट हॉल, एक टेनिस कोर्ट, एक पोलो ग्राउंड और एक क्रिकेट का मैदान और एक संग्रहालय शामिल है जो इस स्थान के दूसरे आकर्षण हैं।

7- एक रोचक बात यह भी है राष्ट्रपति भवन में, कि यहाँ बच्चो के लिए २ गैलरीज है| एक गैलरी में बच्चो के काम को दिखाया गया है और और एक अन्य बच्चों के हित के वस्तुओं की विविधता प्रदर्शित करने के लिए है।

8- राष्ट्रपति भवन के पीछे मुग़ल गार्डन है जो मुगल और ब्रिटिश शैली का एक अनूठा मिश्रण है। यह 13 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है और यहाँ फूलों की कुछ विदेशी किस्में भी शामिल हैं। यह हर वर्ष लोगो के लिए केवल फरवरी-मार्च के मध्य महीने में खुलता है|

9- न्यूज़ रिपोर्टर्स के अनुसार, भारत सरकार ने 2007 में इसके रखरखाव में 100 करोड़ रुपये खर्च किये|

10- राष्ट्रपति भवन में 750 कर्मचारी कार्यरत है|

11- मुख्य बात ये भी है की इसे बनाने में करीब 17 सालों का वक्त लगा था। राष्ट्रपति भवन में देश के सर्वोच्च व्यक्ति की सभा के लिए दरबार हॉल’ भी है जो राष्ट्रपति भवन के सेंट्रल डोम में स्थित है। यदि दरबार हॉल से सीधा बाहर निकले तो ‘इंडिया गेट’ पहुंच सकते हैं।

12- 2016 में ही राष्ट्रपति भवन में एक तीन मंजिला म्यूजियम बनकर तैयार हुआ है। 80 करोड़ की लागत में बना यह म्यूजियम देश का पहला अंडरग्राउंड म्यूजियम है। इस म्यूजियम में इतिहास की कई चीजों को बहुत ही खूबसूरती से दर्शाया गया है।

13- हर शनिवार यहां सुबह 10 बजे ‘चेंज ऑफ गॉर्ड’ सेरेमनी होती है। यह सेरेमनी 30 मिनट की होती है। इसे आम लोग भी देख सकते हैं। राष्ट्रपति भवन के पीछे बनाए गए विश्व प्रसिद्ध मुगल गार्डन में कई प्रजातियों के फूल मौजूद हैं। यहाँ हर साल फरवरी में ‘उद्यानोत्सव’ भी होता है। इस दौरान यह गार्डन आम जनता के लिए खोला जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here