Saving Or Waxing Ki Suruaat Kab Hui Or Kaise Hui

शेविंग और वैक्सिंग की शुरुआत कब और कैसे हुई: आज के इस पोस्ट में हम आपको बातएंगे| शेविंग और वैक्सिंग की शुरुआत कब और कैसे हुई| आज के समय में हर इंसान अच्छा दिखना चाहता है चाहे वो महिला हो या पुरुष. वे खुद को अच्छा दिखाने के लिए तरह-तरह की चीजों का इस्तेमाल करते हैं. जिसमें पुरुषों के बीच शेविंग और महिलाओं के बीच वैक्सिंग बहुत चर्चित है.

लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि जो ट्रेंड आज है वो पहले भी था? लोगों के बीच इस ट्रेंड की शुरुआत कहां से हुई. आज हम आपको वैक्सिंग और सेविंग के कुछ इतिहास के बारे में बताएंगे कि जो हमारे लिए आज नॉर्मल है वो कैसे होते थे.

शेविंग और वैक्सिंग की शुरुआत कब और कैसे हुई?

1. पाषाण काल में पुरुष और महिलाएं अपने सिर और शरीर के बालों को इसलिए हटा देते थे क्योंकि इससे वे युद्ध में अपने दुश्मन की पकड़ से आसानी से बच निकलते थे. और बालों को हटाने के लिए वे लोग धारदार औजारों का इस्तेमाल करते थे.

2. पुराने समय में मिस्त्र में ‘हेयरलेसबॉडी’ को ही सुंदर माना जाता था. मिस्त्र के लोग अपनी आइब्रोज शेव नहीं करते थे. वहां के लोगों ने हेयर रिमूविंग के लिए कई तकनीकें बनाई. वे शेविंग और वैक्स के लिए रेजर तक का इस्तेमाल करते थे.

3. हेयर रिमूवल को लेकर ग्रीस से असमानता फैली थी. वहां पुरुषों को तो छूट थी कि वे अपनी मर्जी से बाल रख और हटा सकते हैं लेकिन औरतों को अपनी बॉडी के बाल हटाने ही होते थे. जो सभी औरतों के लिए जरूरी था.

4. महारानी एलिजाबेथ 1 ने आइब्रोज सेट करवाने और चेहरे को हेयर फ्री रखने का ट्रेंड शुरू किया था.

5. 17वीं और 18वीं शताब्दी में स्ट्रेट रेजर का आविष्कार किया गया. पहले इसका प्रयोग पुरुष शेविंग के लिए करते थे. लेकिन बाद में औरतें भी इसका इस्तेमाल करने लगीं. इस समय औरतों को अपने शरीर के साथ अपनी मर्जी से कुछ भी करने की आजादी थी.

6. 20वीं शताब्दी के शुरू होते ही स्लीवलेस ड्रेसेस फैशन में आ गई और अंडर आर्म शेव करना जरूरी हो गया. जिससे स्लीवलेस ड्रेस खराब ना लगें.

7. दूसरे विश्व यूद्ध के समय नायलॉन की जरूरत बढ़ गई थी जिसके लिए महिलाओं को स्टॉकिंग्स (मोजा) पहनना बंद करना पड़ा. जिसके पीछे महिलाओं को वैक्स कराना पड़ता था और पैरों की वैक्सिंग की शुरुआत हुई.

8. साल 1980 और 1990 के दशक में बिकनी के बढ़ते हुए फैशन के बाद पब्लिक हेयर हटाने के ट्रेंड भी जोरों से बढ़ गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here